अक्षय तृतीया का त्यौहार वैशाख शुक्ल पक्ष तृतीया तिथि पर मनाया जाता है । अक्षय तृतीया की तिथि साढे तीन मूहूर्तों में से एक पूर्ण मुहूर्त है । इस दिन सत्ययुग समाप्त होकर त्रेतायुग का प्रारंभ हुआ, ऐसा माना जाता […]

आज हमारी संस्कृति पर पाश्चात्य संस्कृति हावी होती जा रही है। पाश्चात्य संस्कृति के रंग में रंगे युवक-युवतियां आधुनिक कहलाने के चक्कर में अपनी मूल संस्कृति को छोड़ते जा रहे हैं। उन्हें अपनी मूल संस्कृति ऑड लगने लगी है। हमारी […]

शाही ईदगाह मस्जिद का निर्माण 17वीं शताब्दी में मुगल सम्राट औरंगजेब के शासनकाल के दौरान किया गया था। नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार (15 दिसंबर) को इलाहाबाद हाई कोर्ट के उस आदेश पर रोक लगाने से इनकार कर दिया, […]

दिवाली पर लक्ष्मी पूजन के साथ दीपक जलाने की परंपरा है। दीपक का प्रकाश अंधकार को दूर करता है। जीवन में किसी प्रकार का अंधकार नहीं होना चाहिए। दीपक जलाते समय कुछ बातों का ध्यान रखें। लक्ष्मी पूजन से जुड़ी […]

शिव दयाल मिश्राकिसी की भी पहचान उसके इतिहास से की जाती है। जिसका कोई इतिहास नहीं है उसका कोई अस्तित्व ही मान्य नहीं है। इतिहास से तात्पर्य उसके अतीत से होता है। मेरा मानना है कि इतिहास तीन प्रकार का […]

प्राकृतिक चिकित्सक डॉ.संजय कुमार बैरवा ने बताया कि दरअसल दुनिया भर के तमाम लोगों को हृदयरोगों के प्रति जागरूक करने के उद्देश्य से वर्ष 2000 में ‘विश्व हृदय दिवस’ मनाने की शुरुआत की गई। पहले यह सितम्बर के अंतिम रविवार […]

अनन्त चतुर्दशी के साथ दशलक्षण पर्व का समापन बहुत से मिले हुए पदार्थ में से किसी एक पदार्थ को जुदा करने वाले हेतु को लक्षण कहते हैं जो सबसे भिन्न हो जो सबसे अलग दिखे ऐसा जो हेतु है पहचान […]

साल 2013 से 2021 तक दुनिया में 59.1 फीसदी वायु प्रदूषण बढ़ा है, जिसमें भारत का भी उल्लेखनीय योगदान है। यदि भारत को वायु प्रदूषण कम करना है तो डब्ल्यूएचओ के निर्देशों का सख्ती से पालन करना होगा। अगर ऐसा […]

भारतीय समाज संस्कृति और उत्तम संस्कारों का वाहक है जो पूर्व में भी दुनिया को जीने का मार्ग दिखाता रहा है और वर्तमान में भी ऐसा ही कुछ दिखाई देने लगा है। मगर समय की राह में यदा-कदा कुछ ऐसा […]

आज के तेजी से विकसित हो रहे मीडिया परिदृश्य में पत्रकारिता की स्थिति चिंता का विषय बन गई है। कई लोग पत्रकारिता की गुणवत्ता, विश्वसनीयता और सत्यनिष्ठा में कथित गिरावट पर अफसोस जताते हैं। जबकि पत्रकार निस्संदेह पत्रकारिता के सिद्धांतों […]

पतंजलि देश की जानी-मानी कंपनी है। यह दिग्‍गज मल्‍टीनेशनल कंपनियों को टक्‍कर दे रही है। पतंजलि के प्रोडक्‍ट आज घर-घर में पहुंच चुके हैं। इस कंपनी का चेहरा अगर बाबा रामदेव हैं तो आत्‍मा आचार्य बालकृष्‍ण। आचार्य बालकृष्‍ण को इस […]

सरकार जनता से शुल्क के रूप में पैसा वसूलती है और उस पैसे से सरकारी खर्चे और देश के विकास कार्य किए जाते हैं। ऐसे शुल्कों में बहुतेरे शुल्क हैं। जिन्हें वसूलने के लिए सरकार और सरकार की अधीनस्थ संस्थाएं […]

Breaking News